मंत्रियों के सेवकों को शिष्टाचार का पाठ पढ़ा रही है मध्य प्रदेश सरकार

0
85

प्रशासन अकादमी में तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण में बताया जा रहा आगंतुकों से कैसे करनी चाहिए बात, मेहमानों के साथ कैसे आएं पेश

 

भोपाल। मंत्रियों के शासकीय आवास या कार्यालय में जब कोई मिलने आए तो उसके साथ व्यवहार ऐसा होना चाहिए, जिससे उसे संतोष रहे कि उसकी पूछ-परख हुई है, सम्मान मिला है। इससे सरकार की छवि बनती है और सकारात्मक संदेश भी जाता है। इसके लिए मंत्रियों के सेवकों को अब मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार पहली बार शिष्टाचार का पाठ पढ़ा रही है। भोपाल स्थित प्रशासन अकादमी में तीन दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण में अभी भृत्य, सुरक्षाकर्मी और वाहन चालकों को शामिल किया गया है। अगले चरण में मंत्रियों के निज सचिव और सहायकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मंशा के अनुरूप प्रशासन अकादमी ने प्रशिक्षण पाठ्यक्रम तैयार किया है। पहले चरण में 30 कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। पाठ्यक्रम तैयार करने वाली ज्ञानेश्वरी राव ने बताया कि केंद्र सरकार के मिशन कर्मयोगी कार्यक्रम के आधार पर क्षमता संवर्धन का यह प्रशिक्षण कार्यक्रम बनाया गया है। जब भी कोई मंत्री के कार्यालय या आवास पर आता है तो उसके साथ किस तरह पेश आना चाहिए, इसका प्रशिक्षण होटल मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट से दिलाया गया है।

उन्हें बताया गया है कि जब भी पानी या चाय लेकर आएं तो हाव-भाव ऐसे रहने चाहिए कि जैसे आपको उनके आने से प्रसन्नता हुई है। आदर के साथ बात करें। साफ-सफाई का ध्यान रखें। टेलीफोन उठाएं तो विनम्रता से बात करें। परिचय पूछें और समाधानकारक उत्तर दें। यदि मंत्री जी व्यस्त हैं और बात कराना संभव नहीं है तो बताएं कि बाद में संपर्क करें। सुरक्षाकर्मियों को बताया जा रहा है कि आप सर्वाधिक समय मंत्री के साथ रहते हैं।

आमजन जब मंत्री को ज्ञापन देना चाहते हैं या मिलना चाहते हैं तो उस समय व्यवहार ऐसा होना चाहिए कि कोई भी उपेक्षित महसूस न करे। धैर्य से बात सुनें और बताएं कि संबंधित तक इन्हें पहुंचा दिया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान तनाव प्रबंधन, स्वास्थ्य प्रबंधन, यातायात संबंधी नियमों की जानकारी भी दी जा रही है। अकादमी के महानिदेशक अपर मुख्य सचिव अजीत केसरी वाहन चलाते समय बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बता रहे हैं। प्रशिक्षण के दौरान कर्मचारियों को गोपनीयता बरतने का पाठ भी पढ़ाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here