कांग्रेस की फोन पे को चेतावनी, हो सकते है करोड़ो फोन से PhonePe अनइंस्टॉल ?

0
123

मध्यप्रदेश में कर्नाटक की तर्ज पर चल रही कांग्रेस के पोस्टर वॉर कैपेंन में फोन पे की एंट्री हो गई है। मध्यप्रदेश में सीएम शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ चिपकाए गए पोस्टर्स पर फोन पे के लोगों का इस्तेमाल किया गया है। जिसके बाद फोन पे ने लोगो इस्तेमाल किए जाने को लेकर कांग्रेस को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है। वही प्रदेश के गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि फोन पे की ओर से शिकायत आती है तो सरकार उस मामले में कार्रवाई करेगी।

गृहमंत्री के बयान के बाद कांग्रेस ने भी पलटवार किया है। यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी ने लाखों करोड़ों फोन से फोन पे अनइंस्टॉल करने की चेतावनी दी है। श्रीनिवास बीवी ने ट्वीट कर लिखा “Nov’23 में शिवराज सरकार, May’24 में Modi सरकार तो Uninstall होने ही वाली है, क्या होगा अगर #PhonePe उसके पहले ही लाखों-करोड़ों Phone से uninstall हो जाये?”

वही इससे पहले फोन पे कंपनी ने अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है। इसमें कहा, ‘PhonePe लोगो हमारी कंपनी का रजिस्टर्ड ट्रेडमार्क है। PhonePe के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स (बौद्धिक संपदा अधिकारों) का कोई भी गैरकानूनी इस्तेमाल करेगा तो वह कानूनी कार्रवाई को आमंत्रित करेगा। हम मध्यप्रदेश कांग्रेस से विनम्र निवेदन करते हैं कि वे हमारे ब्रांड लोगो और कलर को दर्शाने वाले बैनर-पोस्टर हटा दें। PhonePe किसी भी तीसरे पक्ष, चाहे वह राजनीतिक हो या गैर-राजनीतिक, द्वारा उसके ब्रांड लोगो के गैर-कानूनी उपयोग पर आपत्ति जताता है। हम किसी राजनीतिक अभियान या पार्टी से जुड़े नहीं हैं।’

हाल ही में भोपाल, छिंदवाड़ा समेत कई शहरों में सीएम शिवराज सिंह के खिलाफ पोस्टर्स चिपकाए गए थे। इसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान के फोटो के साथ फोन पे कंपनी का लोगो और क्यूआर कोड लगाया गया है। पोस्टर पर 50% लाओ फोन पे काम कराओ लिखा है। नीचे लिखा है एक्सेप्टेड मामा। दरअसल इससे पहले 22 जून से कांग्रेस और बीजेपी के बीच पोस्टर वॉर की शुरुआत हुई थी। भोपाल में ‘कमलनाथ वॉन्टेड’ लिखे पोस्टर नजर आए थे। जिनमें कमलनाथ को करप्शन नाथ बताया गया था। इसके बाद शाम को भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ पोस्टर लगे। इन पर लिखा था- शिवराज नहीं, घोटाला राज।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here