RTI में मोदी सरकार पर बड़ा खुलासा !

नई दिल्ली : मोदी सरकार ने इन 4 सालों में प्रचार पर कितना खर्च किया है. इसके लिए एक आरटीआई दाखिल की गई थी. जिसमें मोदी सरकार के मई 2014 में सत्ता में आने के बाद से प्रचार पर 4,343 करोड़ रुपए खर्च किए हैं. इसमें मीडिया (PRINT-ELECTRIC) और अन्य मिडियम शामिल हैं. बता दें कि, RTI कार्यकर्ता अनिल गलगली ने इस संबंध में एक RTI दाखिल की थी.

यूपीए-2 के ‘भारत निर्माण’ कार्यक्रम के प्रचार में 2013-14 में 186.98 करोड़ रुपये खर्च किए गए, जबकि 2012-13 में यह आंकड़ा 100.95 करोड़ रुपये था.  यूपीए -2 सरकार ने साल 2011-12 में इसके लिए 86 करोड़ और 2010-11 में 47 करोड़ रुपये खर्च किए थे.

मंत्रालय के ब्यूरो ऑफ आउटरीच कम्युनिकेशन ने बताया कि, मोदी सरकार ने यह राशि देश भर में मीडिया माध्यमों पर सरकार की योजनाओं के प्रचार पर खर्च की है. 1 जून 2014 से 7 दिसंबर 2017 तक 1732.15 करोड़ रुपए प्रिंट मीडिया और 2079.87 करोड़ रुपए इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर खर्च किए गए है. जिसमें इलेक्ट्रिक माध्यमों पर प्रिंट के मुकाबले ज्यादा राशि खर्च की गई है.इसके अलावा  सरकार ने 531.24 करोड़ रुपए अन्य मीडिया माध्यमों पर खर्च किए हैं.

सरकार ने प्रचार के लिए प्रिंट मीडिया में समाचार पत्र, मैगजीन इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में टीवी, इंटरनेट, रेडियो, डिजिटल सिनेमा,SMS को शामिल किया हैं. वहीं  अन्य माध्यमों में पोस्टर, बैनर, डिजिटल पैनल, होर्डिंग, रेलवे टिकट शामिल हैं.

बता दें कि, केन्द्रीय सूचना आयोग (CIC) ने एयर इंडिया नरेंद्र मोदी की विदेशी यात्राओं पर खर्च की पूरी जानकारी देने के निर्देश दिये थे. इसके तहत अब RTI केस कर पीएम मोदी की विदेश यात्राओं में हुए खर्च की जानकारी मिल सकेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: