Category Archives: पत्रकार की कलम

Post Image

बनता बिगडता है जनता का मूड, मूड से बच कर रहियो..

– ब्रजेश राजपूत,एबीपी न्यूज दृश्य एक : भोपाल में वल्लभ भवन की पांचवी मंजिल, मुख्यमंत्री दफतर का चैंबर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह कैबिनेट की बैठक खत्म होने के बाद अपने मंत्रियों के साथ अनौपचारिक चर्चा करने के लिये बैठे हैं। खुशनुमा माहौल में चल रही चर्चा में सीएम मंत्रियों से कहते हैं कि इतने सालों में […]

Read more

शिवराज की बेबसी का वीडियो और सिंधिया का जूता खोना…

-ब्रजेश राजपूत,एबीपी न्यूज शीर्षक पढकर हैरान नहीं होई ये। हैरान तो हम हो गये थे जब सिहोर के गांव बीजला का वाइरल हुआ वो वीडियो देखा जिसमें सीएम शिवराज सिंह अपने मंत्रियों अफसरों और अपनी पार्टी के नेताओं के बीच बेबस नजर आये। सिहोर जिले की तहसील नसरूल्लागंज का गांव है बीजला। यहां के लोगों […]

Read more
Post Image

नरेंद्र मोदीः नायक बनाम खलनायक

– सौरभ तिवारी, वरिष्ठ पत्रकार भारतीय राजनीति का ये अनूठा कालखंड है। खुद को परिष्कृत करने की ऐतिहासिक प्रक्रिया से गुजरने के दौरान तमाम वाद और विचारधारा को आजमाते-ठुकराते हुए भारतीय राजनीति आज उस मुकाम पर आ खड़ी हुई है जहां सब कुछ व्यक्तिकेंद्रित हो गया है। अब इसे उस शख्स के आभामंडल का प्रभाव […]

Read more
Post Image

आयो बूढो बसंत कांग्रेस दफतर में …..

    –ब्रजेश राजपूत,एबीपी न्यूज सोचा तो था कि इस ग्राउंड रिपोर्ट का शीर्षक बगरौ बसंत से शुरू करूंगा मगर हालत ऐसे नहीं दिखे तो बदल दिया। बहुत दिनों के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के तीन मंजिला दफतर में जो रौनक एक मई को नये अध्यक्ष कमलनाथ के पद भार संभालने के साथ आयी थी […]

Read more
Post Image

कमलनाथ- ‘कद’ के आगे बौना “पद”… !

-दिनेश शुक्ल, पत्रकार मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले काँग्रेस ने अपने नए प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा कर दी. कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम को लेकर लगाए जा रहे कयासों के बीच काँग्रेस आलाकमान ने प्रदेश अध्यक्ष के पद पर कमलनाथ और चुनाव अभियान समिति का अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया को बनाकर मध्यप्रदेश की […]

Read more
Post Image

“जीवन में न्याय चाहते हो तो इतने विकट संघर्ष के लिए तैयार रहो”

आसाराम को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाने वाले वकील पी .सी. सोलंकी के इस आत्मकथन को पढ़कर मेरे रोयें खड़े हो गए, समझ आया कि ये देश किसके सहारे चल रहा है। सलाम सोलंकी जी, आप हो इस देश के हीरो! (और जो हीरो नहीं है उनके नाम जानने हों तो उन नामी गिरामी […]

Post Tagged with , ,
Read more
Post Image

माफ करो देवी , देश पहले ही बहुत बर्बाद हो चुका है.

-नितिन दुबे, वरिष्ठ पत्रकार आंख मारने से लडकियां रातों रात सैलेब्रटी बन जाती तो ..हो गया काम…19 साल की बचकानी मलयालम हीरोइन प्रिया प्रकाश वारियर ने आंख क्या मारी, पूरा देश धडकने लगा..उस दिन देश की सबसे बडी सेक्सी ब्रेकिंग थी, आंख मारने की अदा से घायल हुआ हिन्दुस्तान..इस बैतुके काम को ऐसे सराहना मिली […]

Post Tagged with ,
Read more
Post Image

आरक्षण पर ववाल क्यों : यह गुस्सा नहीं जातिवाद का दंभ है

– सुमित कुमार, युवा पत्रकार आजकल एक हवा चल रही है, आरक्षण के विरोध का. इस हवा के रुख को समझने की जरुरत है, इस हवा से जातिवाद की इतनी दुर्गन्ध आ रही की अब इसे झेल पाना मेरे लिए या हर उस व्यक्ति के लिए जो जातिवाद के दुर्गन्ध को पसंद नहीं करते उनके […]

Read more
Post Image

शिवराज और मोदी के मंत्रियों के क्षेत्र में कैसे हुई हिंसा !

-ब्रजेश राजपूत, एबीपी न्यूज दृश्य एक: ग्वालियर के थाटीपुर का गल्ला कोठार की हरि केटर्स वाली गली। एक दिन पहले हुये उपद्रव निशान हर ओर मौजूद थे। टूटे कांच और हर ओर बिखरे पत्थर गवाही दे रहे थे कि उस दिन जमकर उपद्रव हुआ होगा। गली के मोड पर ही लगा था हरि केटर्स का […]

Read more
Post Image

इनके ही लहू से सियासत सुर्ख दिखती है…

– जयराम शुक्ल, वरिष्ठ पत्रकार,लेखक “सड़कों पर बिछी लाशें, बहते खून,जलती बसें और दुकानों की आँच से इस मौसमी तपिश में भी उन कलफदारों के कलेजे में ठंडक पहुँच रही होगी जो इस बात पर यकीन करते हैं कि सड़कों पर बहने वाले लहू से ही सियासत और सुर्ख होती है” भारत बंद के दरम्यान […]

Read more