बाबा महाकाल को कमलनाथ का खत, साधा शिवराज सिंह पर निशाना

भोपाल: उज्जैन में बाबा महाकाल से आशीर्वाद लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह शनिवार 14 जुलाई से मध्यप्रदेश भाजपा की जन आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे है वही इससे पहले काँग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने बाबा महाकाल को पत्र लिखा है. इस पत्र में उन्होंने शिवराज सरकार द्वारा किए गए वादों का जिक्र किया है. वही शिवराज सरकार पर गंभीर आरोप लगाए है. पत्र के माध्यम से कमलनाथ ने बाबा महाकाल से विनती की है कि वो मध्यप्रदेश को बचाएं और जनता के सामने भाजपा की हकीकत लाने में उनकी मदद करें. इस पत्र को कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने शुक्रवार सुबह उज्जैन पहुंचकर बाबा महाकाल के चरणो में अर्पण किया.

क्या लिखा है पत्र में,

कमलनाथ ने बाबा महाकाल के नाम लिखे पत्र में शिवराज सरकार के पाँच साल पूर्व का जिक्र किया है. पाँच वर्ष पूर्व चुनाव से पहले शिवराज ने जन आशीर्वाद यात्रा के लिये महाकाल को पत्र लिख उज्जैन से ही यात्रा की शुरुआत की थी, उस पत्र में प्रदेश के लिये कई वादे किए थे. इस बार भी शिवराज की जनआशीर्वाद यात्रा 14 जुलाई को उज्जैन से ही शुरू होने जा रही है. कमलनाथ ने लिखा है कि वे इस पत्र के माध्यम से बाबा महाकाल को लिखा है कि पाँच वर्ष पूर्व शिवराज द्वारा किये वादों की पोल जनता के बीच जाकर खोलेंगें और सबकों हक़ीक़त बताएंगें. जिसके लिए बाबा उन्हें आशीर्वाद दें.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 14 जुलाई को उज्जैन से जनआशीर्वाद यात्रा शुरु करने वाले है. इसके लिए रथ तैयार हो गया है. यह रथ आज 13 जुलाई को भोपाल से उज्जैन के लिए रवाना किया जाएगा. इस रथ को शनिवार को अध्यक्ष अमित शाह हरी झंडी दिखाएंगे. यह यात्रा राज्य के सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों तक जाएगी. प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री की एक-एक सभा तथा रथ सभाएं भी होंगी.

मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा 55 दिनों तक चलेगी. यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री रथ और मंच सभाओं को मिलाकर लगभग 700 सभाओं को संबोधित करेंगे. यात्रा के लिए प्रदेश को दो भागों में बांटा गया है. एक भाग में विंध्य, बुंदेलखंड और महाकौशल को रखा गया है. दूसरे भाग में भोपाल, नर्मदापुरम, ग्वालियर-चंबल और मालवा-निमाड़ क्षेत्र हैं. मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सप्ताह में चार दिन यात्रा करेंगे, दो दिन एक हिस्से में तथा दो दिन प्रदेश के दूसरे हिस्से में कार्यक्रम होगा. यात्रा का समापन 25 सितंबर को भोपाल में होने वाले कार्यकर्ता महाकुंभ में होगा.

वही कमलनाथ के पत्र पर भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि काँग्रेस के पास खत लिखने के अलावा कोई काम नहीं. तो दूसरी ओर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम तो चले जनता का आशीर्वाद लेने.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Facebook
Google+
Twitter
YouTube