महामहिम ने बाबा साहब के अनुयायियों के साथ किया भोजन

महू: महू में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भारत के संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉक्टबर भीमराव रामजी आम्बेसडकर की 127वीं जयन्तीन पर उन्‍हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की. कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, राज्यपाल आनंदीबने पटेल, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बाबा साहेब के अनुयायियों के साथ भोजन ग्रहण किया.

राष्ट्रेपति रामनाथ कोविदं ने उनके जन्मन स्थाबन महू में कहा कि, वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे उन्होंऔने जाति भेद और अन्ये पूर्वाग्रहों से मुक्तक आधुनिक भारत के निर्माण के लिए जीवन भर संघर्ष किया. कोविन्दप ने कहा कि, नयी पीढ़ी को आज यह समझने की आवश्यनकता है कि समाज में समानता लाने के लिए डॉक्टिर आम्बेकडकर ने हमेशा अहिंसा का रास्ता  चुना.

राष्ट्रापति रामनाथ कोविंद ने कहा कि, बाबा साहेब का सबसे बड़ा योगदान संविधान है, जो समानता का अधिकार देता है. उन्होंमने कहा कि डॉक्ट र आम्बेककर बहुमुखी प्रतिभा के व्येक्ति थे. जिनका समाज और राष्ट्रा पर प्रभाव‍ अब तक प्रासंगिक बना हुआ है. उन्होंॉने कहा कि, डॉक्टुर अम्बेवडकर एक अर्थशास्त्री  और शिक्षाशास्रीरान, विद्वान और दार्शनिक थे.

उन्होंने लोकतांत्रिक अधिकारों पर जोर देत हुए कहा कि, आज जरूरत यह है कि इन लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग करते हुए लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं से गुजरते हुए और अपनी सक्रिय भूमिका निभाते हुए अपने भले और बुरे की पहचान करने के लिए हम सदैव जागरूक रहें और समझदारी से आगे बढ़ते रहें.

कार्यक्रम में मध्यप्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री थावरटंद्र गेहलोत, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और तमाम नेता मौजूद रहे.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Facebook
Google+
Twitter
YouTube