मेरे दीनदयाल ने बनाया “वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड”, विवादों में रही परीक्षा

भोपाल: भारतीय जनता युवा मोर्चा, मध्यप्रदेश द्वारा आयोजित राष्ट्रचिन्तक पंडित दीनदयाल उपाध्याय सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता “मेरे दीनदयाल” ने विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है. भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पाण्डे ने बताया कि “वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड” की और से आधिकारिक रूप से प्रमाणित करते हुए सूचित किया है कि भाजयुमो द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश के साथ ही 40 देशों से 30 लाख से अधिक प्रतिभागी सम्मिलित हुए यह विश्व कीर्तिमान में दर्ज किया जाता है. क्योंकि एक समय मे 30 लाख से अधिक युवाओं को एक साथ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता में शामिल करवाना ऐतिहासिक महत्व का कार्य है जो आने वाले समय मे अनुकरणीय होगा.

भारतीय युवा मोर्चा के प्रदेश सह मीडिया प्रभारी अनूप पौराणिक की माने तो यह प्रतियोगी परीक्षा अपने आप में अनोखी और पंडित दीनदयाल के जीवन और उनके दर्शन एकात्म मानववाद की राह पर चलने का संदेश देती है. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के मोतीलाल विज्ञान महाविद्यालय में इस परीक्षा का शुभारंभ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हजारों छात्र-छात्राओं की उपस्थिति में किया.

वही मेंरे दीनदयाल परीक्षा ने जो किताब विद्यार्थियों को वितरित की गई उसमें भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू को लालची बताए जाने पर कांग्रेस पार्टी ने आपत्ति जताई है. किताब में भारत के विभाजन को लेकर नेहरू और जिन्ना को सत्ता लालची के रूप में बताया गया है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Facebook
Google+
Twitter
YouTube