पतंजली छत्तीसगढ़ में 671 करोड़ का करेगी निवेश, मिलेगा लोगों को रोजगार

रायपुरः योग गुरु स्वामी रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड राजनांदगांव के ग्राम बिजेताला में कृषि और हर्बल प्रसंस्करण पार्क बनाएगी। इसके लिए कंपनी 671 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इस उद्योग में आंवला और एलोवेरा जूस तथा टमाटर कैचप के साथ अन्य कृषि उपजों से खाद्य वस्तुओं का उत्पादन किया जाएगा। इसके लिए पतंजलि के प्रमुख बालकृष्ण और वाणिज्य उद्योग विभाग के विशेष सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।इनके अलावा दो और एमओयू हुए।

इस मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री मोदी की मंशा के अनुरूप कृषि प्रधान छत्तीसगढ़ में किसानों की आमदनी दोगुनी करने की दृष्टि से खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों का योगदान बहुत महत्वपूर्ण होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों की स्थापना से कच्चे माल के रूप में किसानों की फसलों को अच्छा बाजार मिलेगा। इससे उनकी आमदनी बढ़ेगी और आर्थिक स्थिति अधिक बेहतर होगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की उद्योग नीति में खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है। इन उद्योगों के लिए निवेशकों का स्वागत है। उन्हें हर जरूरी सुविधा दी जाएगी।मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में बैठक में हुए समझौतों के अनुसार तीनों कम्पनियों द्वारा 762 करोड़ 80 लाख रुपए का निवेश और 24 हजार से ज्यादा लोगों को रोजगार का मौका मिलेगा।पतंजलि के प्रमुख आचार्य बालकृष्ण ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनके उद्योग में लगभग 22 हजार लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से और 2200 लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। करीब 500 एकड़ में ग्राम बिजेताला में उनके द्वारा यह उद्योग लगाया जाएगा। बालकृष्ण ने बताया कि उनके उद्योग की स्थापना से क्षेत्र के लगभग 2 लाख किसानों को भी फायदा होगा।

इसी कड़ी में मनोरमा इंडस्ट्रीज प्राईवेट लिमिटेड द्वारा साल बीज और आम पर आधारित बटर प्रोडक्ट्स का उद्योग 76 करोड़ रुपए की लागत से रसनी/उरला में लगाया जाएगा, जिसमें 240 लोगों को रोजगार मिलेगा। आकृति स्नैक्स प्राईवेट लिमिटेड द्वारा रायपुर जिले के ग्राम कोलार में अपने वर्तमान उद्योग का विस्तार करते हुए टोस्ट, ब्रेड और बेकरी उद्योग की स्थापना के लिए 15 करोड़ 80 लाख रुपए का निवेश किया जाएगा। मनोरमा इंडस्ट्रीज प्राईवेट लिमिटेड की ओर आशीष श्राफ और आकृति स्नैक्स प्राईवेट लिमिटेड की ओर से आशीष अग्रवाल ने हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर सीएसआईडीसी के अध्यक्ष छगनलाल मूंदड़ा, मुख्य सचिव विवेक ढांड, कृषि विभाग के अपर मुख्य सचिव अजय सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव सुबोध कुमार सिंह, सीएसआईडीसी के एमडी सुनील मिश्रा और संबंधित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook
Facebook
Google+
Twitter
YouTube