1 अप्रैल से नही चलेगें 2005 से पहले के छपे नोट

indian-currency-b76ba3दिल्ली :अगर आपकी जेब में 10, 20, 50, 100 या 500 रुपए का नोट है तो जरा एक बार इस नोट को ध्यान से देखें। अगर ये नोट 2005 से पहले के छपे हैं तो इन्हें वापस करने की तैयारी कर लें. जी हां जनाब, देश के सबसे बड़े केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने 2005 से पहले के छपे नोटों को बाजार से वापस लेने का फैसला लिया है.आरबीआई ने बाकायदा एक प्रेस नोट जारी कर इस संबंध में आदेश जारी किया है. यानी ऐसे नोटों को अब आप ज्यादा दिन तक बाजार में चलते हुए नहीं देख सकेंगे. इतना ही नहीं, एक समय बाद 2005 से पहले के छपे नोटों को बदलने के लिए आपको आईडी प्रूफ तक दिखाना पड़ेगा. आईडी प्रूफ न होने पर इन नोटों को वापस नहीं किया जाएगा.अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर 2005 से पहले के छपे इन नोटों को क्यों वापस ले रही है. कैसे आप ये पहचान कर सकेंगे कि ये नोट 2005 से पहले का है.

आरबीआई की ओर से जारी किए प्रेस नोट के मुताबिक 2005 से पहले के सिक्‍के भी वापस लिए जाएंगे. 31 मार्च 2014 तक आरबीआई सभी पुराने नोटों का सर्कुलेशन बंद कर देगी. 1 अप्रैल 2014 से लोग पुराने नोट बदलवाने के लिए बैंकों के पास जा सकेंगे. इसके अलावा जो लोग 1 जुलाई के बाद नोट बदलवाने जाएंगे, उन्‍हें यह ध्‍यान रखना होगा कि 100 या 500 के 10 से ज्‍यादा नोट बदलवाने के लिए उन्‍हें आईडी प्रूफ दिखाना होगा.

आरबीआई ने देश में कालेधन और नकली नोटों की समस्या से निपटने के लिए ये फैसला लिया है. बैंक के इस कदम से 2005 से पहले के नोट एक समय बाद बाजार में चलन से बाहर हो जाएंगे. साथ ही वर्तमान में बाजार में मौजूद नकली नोटों की पहचान कर इस पर रोक लगाई जा सकेगी. वहीं, कालेधन के मामले में या तो 2005 से पहले के इन नोटों को वापस करने की प्रक्रिया होगी या फिर ऐसा न होने पर इन नोटों का बाजार मूल्य शून्य हो जाएगा. दोनों ही स्थितियों में कालेधन पर रोक लगाई जा सकेगी.

ऐसे करें 2005 से पहले छपे नोटों की पहचान: इन नोटों को पहचानना बहुत ही आसान है. आपको बताते चलें कि 2005 से पहले के छपे नोटों पर उनकी छपाई का वर्ष अंकित नहीं किया गया था. वहीं, 2005 के बाद छपे नोटों में आप इनकी छपाई का साल दख्ेख सकते हैं. ऐसे में जिन नोटों पर छपाई का साल न दिया हो, वो 2005 से पुराने नोट हैं. इन्हीं नोटों को आपको वापस करना है. इंडियन करेंसी के पीछे की तरफ बीचोबीच नीचे की ओर उसका छपाई का वर्ष अंकित होता है. छोटे अक्षर में छपे इन नंबरों को ध्यान से देखने पर ही जाना जा सकता है.8057_untitled-1

2005 से पुराने छपे नोटों को 31 मार्च तक आरबीआई खुद चिन्हित कर बाजार से वापस लेगा। इसके बाद 1 अप्रैल से आम आदमी द्वारा नोट बदलने का काम शुरु होगा. इस प्रक्रिया में आप किसी भी भारतीय बैंक में जाकर इन नोटों को जमा कर इसके बदले नए और छपाई वर्ष अंकित नोटों को पा सकते हैं. बैंक के मुताबिक, 01 जुलाई 2014 के बाद अगर किसी के पास 2005 से पहले वाले यानी बिना साल वाले 100 और 500 के 10 से ज्यादा नोट होंगे और बैंक में उस व्यक्ति का बैंक में खाता नहीं है तो, उसे बैंक को अपना पहचान पत्र और आवास का प्रमाण भी दिखाना होगा तभी नोट बदले जाए सकेंगे.नोट चलेंगे क्‍योंकि इन पर लीगल टेंडर रहेगा.  रिजर्व बैंक ने साफ कर दिया है कि 2005 से पहले जारी सभी नोट वैध बने रहेंगे. 30 जून तक कोई भी व्यक्ति कितना भी नोट बैंक में ले जाकर बदल सकता है. 1 जुलाई के बाद नियम सख्त होंगे. बैंक ने लोगों से सहयोग की अपील: बैंक ने एडवाइजरी में यह कहा है कि लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। लोग सहजता से इस बदलाव की प्रक्रिया में सहयोग करें.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

mpheadline.com@gmail.com
http://www.facebook.com/mpheadline
SHARE