सेना से माफी मांगे मोहन भागवत, युवा काँग्रेस ने जलाया पुतला

भोपाल: आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के उन बयान से जिसमे उन्होंने भारतीय सेना को आरएसएस कार्यकर्ताओं से तुलना की है उसको लेकर लोगों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है. जिसको लेकर मध्यप्रदेश युवा काँग्रेस ने भोपाल में मोहन भागवत का पुतला जलाकर आक्रोश प्रगट किया. युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने कहा कि पूरा देश सेना के साथ हैं, सेना की कुर्बानियों को हम सलाम करते हैं. मोहन भागवत का बयान आपत्तिजनक और चिंताजनक है.

मोहन भागवत अपने बयान में कहा है कि सेना को तैयार होने में 6-7 महीने लगेंगे जबकि संघ के स्वयंसेवकों को दो से तीन दिन ही लगेंगे.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भागवत के बयान पर कहा है कि, ‘यह उन लोगों का अपमान है जो देश के लिए अपनी जान दे रहे हैं. यह हमारे तिरंगे का भी अपमान है क्योंकि हमारे सैनिक इसको सैल्यूट करते हैं. सेना और शहीदों का अपमान करने पर श्री भागवत जी आपको शर्म आनी चाहिए.

वही युवक काँग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उनका बयान देश को विचलित करने वाला है. ये तिरंगे और सेना के अपमान करने वाला बयान है. सेना देश के लिए लड़ाई लड़ती है, देश की सीमा पर सुरक्षा करते हैं. जिस वजह से हम अपने घरों में चैन की नींद सो पाते है. आज सीमा पर लगातार हमले हो रहे है ऐसे समय देश के जवानों की होसला अफजाई की आवश्यकता है। ताकि उनका मनोबल बढे लेकिन जिस प्रकार का बयान देकर मोहन भागवत ने ओछी मानसिकता का परिचय दिया है. उसकी जितनी निंदा की जाएँ उतनी कम है.

चौधरी ने कहा कि जब से मोदी सरकार बनी है तब से सेना को निशाना बनाया जा रहा है. एक तरफ कश्मीर में पत्थरबाजों को सरकार माफ़ कर देती है और सेना के अफसरों पर एफ आई आर करके सरकार सेना के मनोबल को गिरा रही है. इसी प्रकार मध्यप्रदेश में सेना के जवान पर भाजपा नेता द्वारा हमला करना भी शर्मनाक हरकत है.

संघ प्रमुख ने अपने भाषण में सभी भारतीयों का अपमान किया है, ये हर उस इंसान का अपमान है जिन्होंने देश के लिए अपनी जान दी है। ये हमारे तिरंगे का अपमान है। मोहन भागवत को इस शर्मनाक बयान पर सेना माफी मांगने चहिये.

– युवा काँग्रेस, मध्यप्रदेश

Leave a Reply

%d bloggers like this: