सीएम के गृह जिले में पाबंदी के बाद भी रेत उत्खन्न

सीहोरः मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की घोषणा के बाद भी अवैध उत्खन्न पर कोई अंकुश नहीं लगा है. रेत उत्खन्न का मामला हमेशा ही मीडिया की सुर्खियो में रहा है. लेकिन रेत उत्खन्न पर प्रतिबंध के बाद यह और सुर्खियों में है. ताजा मामला सीएम के ही गृह जिले सीहोर के नसरुल्लागंज और बुदनी विधानसभा क्षेत्र में रेत के अवैध उत्खनन का है जहाँ जोर-शोर से रेत उत्खन्न जारी है. एक तरफ जहाँ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रेसवार्ता कर अवैध उत्खनन को रोक लगाने की बात करते है तो वही दूसरी तरफ उनके आदेश की अवहेलना लगातार हो रही है. सीएम ने भले ही जिला कलेक्टरों को रेत उत्खनन में चल रही मशीनों और डंफरों को राजसात कर कार्यवाही करने के आदेश दे दिए हो पर सीएम के ही नजदीकी ग्रामों में ढरल्ले से रेत उत्खन्न जारी है. सीहोर जिले के नर्मदा किनारे बसे छीपानेर, चोरसाखेड़ी, बड़गांव, शिलक्ट मंडी आदि ग्रामों में रोज बड़े ही शातिर तरीके से नर्मदा माँ के सीने को छलनी करने से रेत माफियाओं को कोई रोक नही पा रहा. यह बेख़ौफ़ होकर रेत का उत्खन्न और परिवहन कर अपने काम को अंजाम दे रहे हैं. इसके पीछे कही न कही रसूखदार लोगों और अधिकारी की सह प्राप्त है. यही कारण है कि मुख्यमंत्री के आदेश के बाद भी यह लोग अपने काम से पीछे नही हट रहे.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम छीपानेर में रोज रात के समय नर्मदा के किनारे किस्ती से स्टाक कर 40 से 50 गाड़ियों से रेत का परिवहन किया जाता है. जिसमें ग्राम छीपानेर के सारँगाखेड़ा खदान और मरोड़ा रेत खदानों के नाम से अवैध रायल्टी भरी जा रही है. सूत्रों की माने तो यह जो रायल्टी बाटी जा रही है वह वह भी नकली  है।

वंही ग्रामीणों का कहना है कि इस सम्बंध में वह कई बार प्रशासन से शिकायत कर चुके है इसके बावजूद भी सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के कान में जू तक नहीं रेंग रही. जिसके चलते शासन को करोड़ों के राजस्व नुक्शान हो रहा है. वही प्रतिबंध के बावजूद भी रेत माफियाओं और दलालो को किसी भी प्रकार का कोई फर्क नही पड़ रहा. इससे यह भी अंदाजा लगाया जा सकता है कि तरह करोड़ों रूपये ऊपर से नीचे तक इन माफियाओं के द्वारा बांटा जा रहा है. जिसके चलते इन लोगों के खिलाफ कोई भी कार्रवाही नहीं होती. वही ग्रामीणों द्वारा जब रेत माफिया की शिकायत की जाती है तो उनको यह रेत माफिया हथियारों से डराते हुए जान से मारने की धमकी तक दे देते है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: