श्रीदेवी निकली अंतिम यात्रा पर, प्रशंसकों की आंखे हुई नम

मुम्बईः मशहूर फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गई. श्रीदेवी की मौत शनिवार 24 फरवरी को दुबई में एक परिवारिक शादी समारोह के दौरान हो गई थी. वह होटल के कमरे में मृत पाई गई थी श्रीदेवी को उनके पति बोनी कपूर ने बाथ टब में मृत अवस्था में पाया था. जिसके बाद दुबई पुलिस ने श्रीदेवी का पोस्ट मार्टम करवाने और जाँच के बाद उनकी बॉडी परिजनों को सौपी थी. सूत्रों के अनुसार यह खबर भी सामने आई थी कि श्रीदेवी की मौत ज्यदा शराब पीने की वजह से हुई थी.

श्रीदेवी का जन्म 13 अगस्त 1963 में हुआ था. श्रीदेवी ने तमिल, मलयालम, तेल्गु, कन्नड़ और हिन्दी सिनेमा में काम किया था. भारतीय सिनेमा की पहली “महिला सुपरस्टार” कही जाने वाली श्रीदेवी ने पाँच फिल्मफेयर पुरस्कार भी प्राप्त किए थे. 1980 और 1990 के दशक में श्रीदेवी सबसे अधिक वेतन प्राप्त करने वाले अभिनेताओं में थी, और उन्हें उस युग की सबसे लोकप्रिय अभिनेत्री माना जाता है. 2013 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया था.

श्रीदेवी ने 1975 में फिल्म जूली से हिन्दी सिनेमा में बाल अभिनेत्री के रूप में प्रवेश किया था. अपनी पहली फिल्म मून्द्र्हु मुदिछु नामक तमिल में थी. श्रीदेवी का बॉलीवुड में प्रवेश 1978 की फिल्म सोलहवाँ सावन से हुआ. लेकिन उन्हे सबसे अधिक पहचान 1983 की फिल्म हिम्मतवाला से मिली. सदमा, नागिन,निगाहें, मिस्टर इन्डिया, चालबाज़, लम्हे, खुदा गावाह और जुदाई उनकी प्रसिद्ध फ़िल्में हैं. अपने फिल्मी करियर में श्रीदेवी ने 63 हिंदी, 62 तेलुगु, 58 तमिल, 21 मलयालम तथा कुछ कन्नड़ फिल्मों में भी काम किया.

श्रीदेवी का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. गार्ड ऑफ आर्नर और तिरंगें से उनके मृत शरीर को ढका गया. श्रीदेवी की अंतिम यात्रा के दौरान उनके प्रशंसकों ने भावभीनी श्रृद्धांजली दी. श्रीदेवी को एक सुहागिन की तरह सजाया गया था. अंतिम यात्रा में कई अभिनेता और अभिनेत्री शामिल हुए.

Leave a Reply