राजनीति में किसी की ताकत नहीं जो हमें साइड लाइन कर दे- यशवंत सिन्हा

नरसिंहपुर: पिछले कई दिनों से मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिला कलेक्टर कार्यालय के बाहर किसानों की समस्याओं को लेकर धरने पर बैठे बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा का कहना है कि राजनीति में किसी की कोई ताकत नही कि हमें साइड लाइन कर दे. यह बात उन्होंने सोमवार को प्रेसवार्ता के दौरान कही. रविवार को अभिनेता और बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा भी यशवंत सिन्हा के समर्थन में नरसिंहपुर पहुँचे थे. जहां बीजेपी ने दोनों नेता नरसिंहपुर सर्किट हाउस में प्रेस से रूबरू हुए इसी दौरान एक सवाल के जवाब में जिसमें पार्टी से दोनों सिन्हा को साइड लाइन किये जाने के सवाल पर यशवंत सिन्हा ने यह बयान दिया.

बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि किसानों का मुद्दा देश का मुद्दा है लेकिन क्यों नही बन पा रहा है बड़ा आश्चर्य है जबकि किसान के मुद्दे से ही मंहगाई जैसे मुद्दे जुड़े हैं.

वही कश्मीर मुद्दे पर अपनी बेवाक राय रखते हुए शत्रुध्न सिन्हा ने कहा कि कशमीर का मुद्दा राजनैतिक समाधान खोज रहा है. सैन्य कार्रवाई के साथ राजनीतिक प्रयास जरूरी ये सेना के लोग भी मानते हैं और मैं भी मानता हूं.
जबकि पीएम और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए शॉटगन ने कहा कि बीजेपी में वन मैन शो या टू मैन शो मैं अपनी जुबान से नही लेकिन सब कहते हैं पर ये सही है तभी तो न कोई मंत्री को जानता है न दूसरे बड़े नेता को. जबकि वरिष्ठ नेताओं की अनदेखी के मुद्दे पर शत्रुध्न सिन्हा ने कहा कि बाबुल सुप्रियो जैसे पहली और आखरी बार के सांसद से मुझे सलाह लेनी पड़े तो ये मेरा दुर्भाग्य है.

वही धरने पर बैठे यशवंत सिन्हा ने विदेशी संबंधों पर बोलते हुए कहा कि 2003 में अटल जी के समय जब मैं विदेशमंत्री था तब भारत पाक के बीच समझौता कर नियंत्रण रेखा पर सियाचीन तक गोलाबारी बंद कराया था. आज वो समझौता तार तार हो रहा है. जब अटल जी बंद करा सकते हैं तो अब क्यों नही. जब तक ये गोलाबारी होती रहेगी सीमा और नियंत्रण रेखा पर सैनिकों की जवान ऐसे ही जाती रहेगी. जबकि वर्तमान सरकार की इस पर असफलता पर यशवंत सिन्हा ने चुप्पी साध ली.
जबकि शत्रुघ्न सिन्हा नहीं रुके और उन्होंने मोदी सरकार पर वार करते हुए कहा कि जरूरी नही कि जो सरकार भारी बहुमत से आए तो वह टिकी रही. बड़े बड़े धन शक्ति का जनशक्ति जब जागरूक होती है तो सब का फैसला कर देती है. दो आदमी को बीजेपी में डर नही लगता यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा.
इस दौरान किसानों के जिन माँगों को लेकर यशवंत सिन्हा धरने पर बैठे थे उसके बारे में बताते हुए दावा किया कि उनकी कुछ मांगें पूरी हुई, कुछ को स्थानीय स्तर पर हल करना संभव नही है ऐसा बताया गया. उसकी लड़ाई दिल्ली से भी हम लड़ेंगें. इसलिए उनका आंदोलन खत्म नही बल्कि स्थानीय लोगों के साथ NTPC के सामने जारी रहेगा. कुछ मांगे पूरी हुई हैं. पर बची मांगों के लिए फिर से मुझे फिर धरने पर बैठना पड़े तो फिर बैठूंगा.

सोमवार को अपना धरना समाप्त कर बीजेपी के दोनों वरिष्ठ नेताओं ने एक बार फिर मोदी और शाह के खिलाफ ताल ठोकी है. जिसके लिए एमपी के नरसिंहपुर जिले के सर्किट हाउस में पत्रकारों के सवालों के जवाब देकर एक बार फिर अपने तेवर साफ कर दिए है. जिसके बाद दोनों सिन्हा नरसिंहपुर से रवाना हो गये.

Leave a Reply

%d bloggers like this: