युवा कांग्रेस की आदिवासी अधिकार यात्रा

Bhopal: प्रदेश में युवा कांग्रेस अब और आक्रमक होने जा रही है. सीएम शिवराज की आदिवासी यात्रा शुरू होने के एक दिन बाद युवा कांग्रेस ने भी प्रदेश में आदिवासियों के बीच पहुँच कर बीजेपी सरकार की हकीकत बताने और उनके अधिकारों के लिए सड़क पर उतरने का ऐलान कर दिया. 

युवा कांग्रेस की आदिवासी अधिकार यात्रा 24 मई को रतलाम जिले के सैलाना विधानसभा क्षेत्र से प्रारम्भ हो रही. इस आदिवासी अधिकार यात्रा को युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा बरार,कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव व गुजरात के प्रभारी कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी के साथ क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया व कांग्रेस के वरिष्ट नेता प्रभुदयाल गेहलोत हरी झंडी बतायेंगे. इस यात्रा के शंखनाद में प्रदेश के सभी युवा कांग्रेस के पदाधिकारी, कार्यकर्ता व आदिवासी समूहों के लोग हजारों की तादात में जुट कर इस लड़ाई को प्रारंभ करेंगे. जो 6 जून तक प्रदेश करीब 45 से अधिक विधान सभाओं में जाकर सरकार के खिलाफ आदिवासी समाज के अधिकारों को लेकर सरकार को घेरेगी.

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कुणाल चौधरी ने बताया कि मध्यप्रदेश में 2003  से भारतीय जनता पार्टी सत्ता में है लेकिन 14 वर्षों में भारतीय जनता पार्टी सरकार ने आदिवासी वनवासीयों के हितों को लगातार अनदेखा किया है. इतना ही नहीं विकास के नाम पर और वन्य प्राणी संरक्षण तथा वन संरक्षण के नाम पर अनेक स्थानों पर हजारों आदिवासी को उनके परंपरागत निवास स्थानों से जबरन हटाया गया है तथा यह प्रक्रिया अभी भी जारी है. वन अधिकार कानून  जो कांग्रेस पार्टी ने दिया था उसके तहत जो पट्टे वह वन भूमि का अधिकार आदिवासी भाइयों को देना था वह 1.5 लाख से अधिक लोगों को अभी तक नहीं दिए तथा 2.5  लाख लोगों को सरकार पट्टे देने का जो दावा करती है उन में बड़ी संख्या में गैर आदिवासी और व्यवसायिक कारणों से वन भूमि पर अवैध कब्जा करने वाले लोगों को वनवासी बनाकर उन्हें पट्टे प्रदान किए गए हैं.साथ ही इसके असली हक़दार आदिवासी भाइयों को बेदखल किया जा रहा है.

कुणाल चौधरी ने कहा कि नर्मदा परियोजना के विस्थापित आदिवासी भाइयों को पुनर्वास अभी तक नहीं हुआ और आप सरदार सरोवर बांध की ऊंचाई बढ़ने के कारण मध्य प्रदेश के 35 गांव पूरी तरह तथा 17 गांव आंशिक रूप से डूब क्षेत्र में आएंगे इन में आदिवासी लोगों की संख्या अधिक है. नर्मदा नदी के दोनों ओर वृक्षारोपण करने के नाम पर भी आदिवासी लोगों की जमीन बड़े पैमाने पर छीनी जाने वाली है इस से बचने के लिए मेरे आदिवासी भाई संघर्ष के लिए तैयार रहे युवक कांग्रेस व कांग्रेस पार्टी उनके साथ है.

आदिवासी भाइयों के कल्याण के लिए बीजेपी की पाखंडी शिवराज सरकार जो वादा करती हैं वह सारे खोखले है. शिवराज सिंह की सरकार पिछले 13 सालों से आदिवासी लोगों को शोषित कर रही है साथ ही स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार ,आवास, खेती ,पशुपालन ,रोजगार किसी भी क्षेत्र में कोई विकास नहीं किया तथा आदिवासी क्षेत्रों में खाली पदों की नियुक्ति भी नहीं कर रहे तथा फर्जी प्रमाण पत्र के बनाकर आदिवासी लोगों का हक छीन रहे हैं. इसके अलावा विकास के बजट को लगातार केंद्र की मोदी सरकार और शिवराज सरकार कम कर रही है.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

mpheadline.com@gmail.com
http://www.facebook.com/mpheadline
SHARE