मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने पेश किया बजट पेश, विपक्ष ने कसा तंज

भोपालः मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बुधवार को अपनी सरकार का आखिरी बजट पेश कर दिया. वित्तमंत्री जयंत मलैया ने 2018-19 के लिए 2 लाख 4 हजार 642 करोड़ रुपए का बजट पेश किया. पिछले वित्त वर्ष 2017-18 में शिवराज सरकार ने 1 लाख 98 हजार 594 करोड़ रुपए का बजट पेश किया था. वही चुनावी साल को ध्यान में रखते हुए इस बार 46 हजार 78 हजार करोड़ रुपए अधिक का बजट पेश किया गया है. जयंत मलैया ने एमपी विधानसभा में पाँचवी बार बजट पेश किया है. वित्तमंत्री ने 26 हजार 780 करोड़ रुपए के घाटे का भी जिक्र है. जहाँ सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इसे एतिहासिक बजट बताया. शिवराज सिंह चौहान ने इसे सिंचाई, सड़क, बिजली और स्वास्थ्य का बजट बताया. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि बजट में स्वास्थ्य सेवाओं को विशेष ध्यान दिया गया है अब ग्रामीण क्षेत्रों में प्राइवेट अस्पताल खोलने वालों को सब्सडी का लाभ मिलेगा. जो डॉक्टर या व्यवसायी ग्रामीण में अस्पताल खोलने वालों को 40 फीसदी और आदिवासी क्षेत्रों में अस्पताल खोलने पर 50 प्रतिशत की सब्सडी मिलेगी.

जबकि विपक्ष ने इसे 14 साल पहले पेश किए गए बजट की तरह ही बताया. नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा कि बीजेपी सरकार का यह बजट हूबहू 2003 में पेश किए गए बजट कि तरह है, जबकि कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और विधायक जीतू पटवारी ने कहा कि बूढे वित्त मंत्री ने लड़खडाते हुए सीएम के झूठ को पेश किया है. विपक्ष ने युवाओं को रोजगार न मिलने और किसानों को भावांतर के माया जाल में उलझाने की बात कही साथ ही बिजली खरीदी में भ्रष्ट्राचार के आरोप भी लगाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: