मच्छरदानी वाले गणपति बप्पा

भोपालः मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक ऐसे गणपति भी विराजमान है जिन्हें डेंगू और मलेरिया होने का खतरा न हो इसलिए उनके भक्त ने उन्हें मच्छरदानी में विराजमान किया है. जी हाँ यह सच है भोपाल के नवीन नगर इलाके में अनिका शर्मा नाम की एक बच्ची ने अपने घर में गणपति बप्पा को मच्छरदानी में विराजमान किया है. दरआसल टीवी और समाचार पत्रों में मच्छरों के प्रकोप से मलेरिया और डेंगू जैसी बिमारी को देखते हुए अनिका ने अपने गणपति को मच्छरदानी में स्थापना की है ताकि उनके गणपति को मलेरिया या डेंगू जैसी बिमारी न हो अनिका अभी महज तीन साल की है और उसके घर में सभी लोग मच्छरों के डर से मच्छरदानी लगाकर सोते है. सो कहा जाता है न कि बच्चे मन के सच्चे अनिका ने अपने गणेश बप्पा को मच्छरों से बचाने के लिए मच्छरदानी लगाकर उन्हें सुरक्षिक किया है. 

अनिका ने अपने गणपति बप्पा को झूले में विरामान किया है और उनका प्यार का नाम दिया है झूलन गणपति. अनिका के झूलन गणपति की ख्याति तो ऐसी है कि लोग दूर-दूर से आकर मच्छरदानी वाले झूलन गणपति के दर्शन करने आ रहे है.जिसमें जनप्रतिनिधीयों से लेकर बप्पा के बडे बडे भक्त शामिल है. क्योकिं बच्ची अनिका का गणपति बप्पा के प्रति इस निस्वार्थ प्रेम को देखने का हर एक का मन है जो उन्हें अनिका के झूलन गणपति तक खीच लाता है. कुल मिलाकर गणेश भगवान के प्रति एक बच्ची के निस्वार्थ प्रेम को लेकर सबके मन में जिज्ञासा का भाव है और हो भी क्यों न आखिर निस्वर्थ प्रेम ही तो था जिसके बल ने कृष्ण को मीरा के आपस आने को विवश कर दिया था, श्याम को सूर से मिला दिया था और भगवान राम सबरी के झूठे बेर खाने जंंगल पहुँच गए थे.

Leave a Reply