मंत्री लाल सिंह आर्य हत्या में दोषी, वारंट जारी मिला स्टे

भिण्ड (म.प्र.): सीएम शिवराज सिंह के नजदीकी मंत्रियों में शुमार प्रदेश के सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य को हत्या का आरोपी करार दिया गया है. कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव हत्याकांड में मंत्री आर्य के खिलाफ कोर्ट ने आज वारंट जारी किया है.

गौरतलब है कि अप्रैल 2009 में लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव की हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में सुनवाई करते हुए भिंड जिला न्यायालय ने मंत्री लाल सिंह आर्य को माखनलाल हत्याकांड में आरोपी घोषित किया है और गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. अधिवक्ता रामप्रताप सिंह के अनुसार विधायक माखनलाल जाटव की हत्या के प्रकरण में आज 319 के तहत लगाए आवेदन की सुनवाई में न्यायधीश योगेश गुप्ता ने राज्य मंत्री लाल सिंह आर्य को हत्या का आरोपी करार दिया है. न्यायालय से लाल सिंह आर्य की गिरफ्तारी के लिए वारंट भी जारी किया गया है.

गौरतलब है कि 13 अप्रैल 2009 की रात करीब सवा आठ बजे कांग्रेस विधायक माखनलाल जाटव कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी भागीरथ प्रसाद का प्रचार कर रहे थे. प्रचार के दौरान उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इस प्रकरण में मंत्री लाल सिंह आर्य पर आरोप था कि उन्होंने ही माखनलाल जाटव की हत्या के लिए उकसाया था और कहा था कि माखनलाल को गोली मार दो, जिंदा नहीं बचने पाए.

इस मामले में हत्या के प्रत्यक्षदर्शी बनवारी लाल जाटव ने हत्याकांड की प्रकरण की न्यायालय में सुनवाई के दौरान लाल सिंह आर्य की भूमिका को लेकर बयान दिया था. बनवारी लाल जाटव के बयान के आधार पर माखनलाल जाटव के परिजनों ने लाल सिंह आर्य को आरोपी बनाने के लिए कोर्ट में 319 के तहत आवेदन दिया था. जिसके चलते कोर्ट ने मंत्री के खिलाफ सबूतों और गवाहों के आधार पर वारंट जारी कर दिया. हालंकि मंत्री लाल सिंह आर्य को 03 जून2017  तक के लिए हाई कोर्ट से स्टे मिल गया है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: