भोपाल में खुलेगा राष्ट्रीय स्तर का मेडिकल संस्थान

file picture

भोपाल : मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास संस्थान खोला जाएगा. केंद्रीय कैबिनेट ने इसको मंजूरी दी है. केन्द्रीय मंत्री-मण्डल ने संस्थान के लिए निदेशक के एक पद सहित संयुक्त सचिव के तीन पद और प्रोफेसर के दो पद की भी मंजूरी दी है.यह संस्थान निःशक्तजन सशक्तिकरण विभाग के अंतर्गत सोसायटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के तहत स्थापित किया जाएगा.

इस संस्थान का मुख्य उद्देश्य मानसिक रूप से बीमार व्यक्तियों के पुनर्वास की व्यवस्था करना, मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास के क्षेत्र में क्षमता विकास तथा मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास के लिए नीति बनाना और अनुसंधान को बढ़ावा देना है. पहले तीन सालों में इस परियोजना पर लगभग 179 करोड़ 5 लाख रुपये खर्च होने का अनुमान है.

मध्यप्रदेश सरकार ने संस्थान के लिए भोपाल में 5 एकड़ जमीन आवंटित की है. यह संस्थान दो चरण में तीन वर्ष के भीतर बनकर तैयार हो जाएगा. संस्थान मानसिक रोगियों के लिए सभी तरह की पुनर्वास सेवाएं उपलब्ध करवाने के साथ-साथ स्नातकोत्तर और एमफिल डिग्री तक की शिक्षा की व्यवस्था भी करेगा. संस्थान में नौ विभाग होंगे और मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास के क्षेत्र में 12 विषयों में डिप्लोमा, सर्टिफिकेट, स्नातक, स्नातकोत्तर एवं एमफिल डिग्री सहित 12 तरह के पाठ्यक्रम होंगे. 5 वर्षों में इस संस्था में विभिन्न विषयों में दाखिला लेने वाले छात्रों की संख्या 400 से ज्यादा होने की संभावना है.

National mental health rehabilitation institute देश में मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी तरह का पहला संस्थान होगा. मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्षमता विकास और पुनर्वास के मामले में यह एक अत्याधिक दक्ष संस्थान के रूप में काम करेगा. साथ ही, केन्द्र सरकार को मानसिक रोगियों के पुनर्वास की प्रभावी व्यवस्था का मॉडल विकसित करने में मददगार होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: