बीजेपी नेता पर यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज, पार्टी ने किया निष्कासित

भोपालः मध्यप्रदेश में बीजेपी नेता खिलाफ एक लड़की ने एफआईआर दर्ज करवाई है. राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त सिलाई कला मंडल के उपाध्यक्ष राजेंद्र नामदेव के खिलाफ पुलिस ने शोषण का मामला दर्ज किया है. पीडित युवती ने एफआईआर में तीन माह पहले एक होटल में आरोपी राज्यमंत्री द्वारा देहित शोषण करने की बात कही है. वही बीजेपी ने आरोपी राज्यमंत्री के खिलाफ पार्टी से निष्कासन की कार्रवाई की है.

भोपाल के हनुमानगंज थाने में एक युवती ने राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त सिलाई कला मंडल के उपाध्यक्ष के खिलाफ यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज करवाया है. रविवार देर रात थाने पहुँचकर युवती ने मैहर से बीजेपी नेता राजेन्द्र नामदेव के खिलाफ यह एफआईआर दर्ज करवाई है. मामला तीन माह पहले नवम्बर 2017 का है. जब भोपाल के राजदूत होटल में पीड़ित लड़की के साथ बीजेपी नेता ने यौन शोषण करने की कोशिश की. वही मामला सामने आने के बाद बीजेपी ने आरोपी राजेन्द्र नामदेव के खिलाफ कार्रवाई करते हुए बीजेपी से निष्कासित कर दिया है. बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बताया कि राजेन्द्र नामदेव के इस कृत्य से पार्टी की छवि खराब हुई है इसलिए उनको अध्यक्ष के आदेश पर पार्टी से निष्कासित किया गया है।

रविवार को पीडित लड़की हनुमानगंज थाने पहुँची थी जहाँ पीड़िता ने बीजेपी नेता के खिलाफ एफआईआर करवाने की जिद की पर पुलिस ने जब मामले को जाँच में लेने की बात कही तो लड़की ने आत्महत्या करने की धमकी दे डाली. जिसके बाद पुलिस ने बीजेपी नेता राजेन्द्र नामदेव के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया. इस दौरान राजेंद्र नामदेव भोपाल में ही पीडब्ल्यूडी के गेस्ट हाउस में रुके हुए थे. मामले की खबर लगते ही वह भी थाने पहुँच गए और अपने बयान पुलिस को लिखित में दिए है.

जबकि मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने पूरे मामले में जाँच की बात कही है. एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया कि बीजेपी नेता राजेन्द्र नामदेव के खिलाफ पीड़ित लड़की की शिकायत पर धारा 354 ए, 345 बी, 506 और 509 आईपीसी के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है.

पीडित युवती के अनुसार बीजेपी नेता राजेन्द्र नामदेव ने नवम्बर 2017 में ज्यदती करने की कोशिश की. पीड़िता ने बताया है कि उस पर 2016 में एसिड अटैक हुआ था. एसिड अटैक की घटना के बाद राजेंद्र नामदेव ने ही सीएम हाउस से उसे आर्थिक सहायता दिलाई थी. वही पूरे मामले में पुलिस का कहना है कि युवती के लगाए आरोपों के साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं. इस बात की भी पड़ताल की जा रही है कि आखिर पीड़िता ने घटना के तुरंत बाद एफआईआर दर्ज क्यों नहीं कराई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: