फटाका फैक्ट्री में विस्फोट,29 की मौत

बालाघाट(म.प्र.): बालाघाट जिला मुख्यालय से 8 कि.मी. दूर ग्राम खैरी में संचालित एक फटाका फैक्ट्री में हुए ब्लास्ट में 29 लोगों की मौत हो गई. हादसा दोपहर 3 बजे के आस-पास का है। वैनगंगा नदी के खैरी घाट के समीप एक झोपड़ी में संचालित इस फटाका फैक्ट्री में हादसे के वक्त 47 मजदूर काम कर रहे थे. जिनमें ज्यादातर महिलाएं थी. घटना के बाद फैक्ट्री में काम कर रहे करीब 8 घायलो को गंभीर अवस्था में नागपुर रिफर किया गया. इस हादसे के वक्त हुए विस्फोट से इस फैक्ट्री के परखच्चे उड़ गये. इस हादसे में मृत मजदूरों के शव क्षत-विक्षत अवस्था मे फैक्ट्री से 200 मीटर की दूरी तक फैले दिखे. सूचना मिलने के बाद मौके पर प्रशासन की बचाव टीम पहुँच गई जिसने शुरुआत में 25 मजदूरों के मरने की पुष्टि की थी लेकिन बाद में यह संख्या 29 हो गई.

वही बालाघाट के विधायक और कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने बताया की शिवराज सरकार ने प्रत्येक मृतक के लिये 2 लाख रूपये के मुआवजे की घोषणा की है.

दो किमी तक सुनाई दी विस्फोट की आवाज़:

फैक्ट्री में हुए विस्फोट की आवाज़ 2 कि.मी. दूर गांव तक सुनाई दी. हादसे में घायल हुई 3 महिलाएं सबसे पहले गांव तक आई जिन्होने हादसे की जानकारी दी. जिसके बाद मौके पर पुलिस और राहत कर्मी पहुंचे. कलेक्टर भरत यादव, एस.पी. अमित सांघी सहित पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयों ने मौके पर पहुंचकर बचाव का काम देखा. हालांकि हादसे में ज्यादातर श्रमिको की मौत हुई है.

लायसेंस लेकर झोपड़े में चल रही थी फैक्ट्री:

खैरी की जिस फटाखा फैक्ट्री में यह हादसा हुआ वह एक झोपड़ी में संचालित हो रही थी। जिसके पास 100 क्विंटल बारूद रखने तथा फटाका बनाने के अनुमति थी. लेकिन बिना सुरक्षा इंतजामो के संचालित यह फैक्ट्री इतने बड़े हादसे का शिकार बन गई. घटना के बाद से फैक्ट्री का मालिक रज्जू वारिस फरार बताया जा रहा है. ज्ञात हो इसके पूर्व वर्ष 2015 भी जिले के किरनपुर में एक फटाका फैक्ट्री में ऐसा ही विस्फोट हुआ था जिसमें 3 श्रमिको की मौत हो गई थी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: