प्रोफेशनल के साथ शौकिया फोटोग्राफी भी आजमा रहे है हाथ

-संवाददाता सनव्वर शफी

फोन में कैमरे की अच्छी क्वालिटी मिलने से लोगों में फोटोग्राफी का क्रेज बढ़ गया है। खासकर जब से फ्रंट कैमरे ने फोन में जगह ली है, तब से सेल्फी मानो एक एडिक्शन सी बन गई है। आज बाजार में कई स्मार्टफोन उपलब्ध हैं, जिनसे अच्छी फोटोग्राफी की जा सकती है। लेकिन इस सबके बावजूद फोटो खींचने की जो मजा हमें प्रोफेशनल कैमरे से आता है वो मोबाइल से नहीं। यही कारण है कि यूथ में प्रोफेशनल कैमरे की डिमांड बढ़ती जा रही है। एक ओर जहां लोग विभिन्न तरीके की फोटोग्राफी कर रहे हैं वहीं यूथ इन दिनों मल्टी एक्सपोजर और लेयर फोटोग्राफी पर फोकस कर रहे है। यूं कहे कि युवाओं में मल्टी एक्सपोजर और लेयर फोटोग्राफी का के्रज बढ़ता जा रहा है। क्योंकि इस तरह के फोटोग्राफी के करना हर किसी के बस की बात नहीं है।

इसलिए यह फोटोग्राफी भी युवाओं की पसंद बनता जा रहा है। यूं तो इसे प्रोफेशनलस भी आजमाते हैं, लेकिन सबसे ज्यादा लोकप्रियता यूथ में है।

कहां हुई शुरुआत

लेयर फोटोग्राफी की शुरुआत इटली के जाने माने फोटोग्राफर स्टेफेन विल्केस ने की थी। आज कई युवा और मंजे हुए फोटोग्राफर्स भी लेयर फोटोग्राफी के गुर सीख रहे हैं। इन्ही में से एक भोपाल के अभिषेक शिवहरे हैं जोकि शौकिया फोटोग्राफी है, लेकिन नेशनल और इंटरनेशनल लेवल पर इन का वर्क एग्जीबिट हो चुका हैं। अभिषेक को फोटोग्राफी का शौक है। ये लगभग सभी तरीके की फोटोग्राफी करते हैं और साथ ही साथ इन शूट की गई फोटो इंटरनेशनल लेवल की मैग्जीन में प्रदर्शित हो चुकी हैं।

कैसे करते हैं यूज

इस तरह की फोटोग्राफी के तरीके में आप एक ही ऑब्जेक्ट की तीन से चार इमेज बना सकते हैं। इसमें इमेज को कैद करने के लिए आपको शटर स्पीड की गति को समझना पड़ता है। वहीं फोटो को फाइनल टच देने के लिए एडिटिंग भी करनी पड़ती है।

इन्हें भी आजमाते हैं लोग

लेयर और मल्टी एक्सपोजर फोटोग्राफी के अलावा कैंडिड, वेडिंग, पोर्टफोलियो, फैशन फोटोग्राफी भी काफी लोकप्रिय है। लेकिन लेयर और मल्टी एक्सपोजर फोटोग्राफी की तकनीक नई होने से इसमें काफी कुछ अलग करने को मिलता है। इस लिए युवाओं का रूझान इस ओर अधिक बढ़ रहा है।

लोकेंद्र सिंह ने बताया कि, मुझे बचपन से ही फोटोग्राफी का शौक रहा है। अभी में लेयर और मल्टी एक्सपोजर फोटोग्राफी की तकनीक को समझ रहा हूं, क्योंकि इस की तकनीक नई होने के साथ काफी डिफरेंट है।

मिनाज अली ने बताया कि, लेयर फोटोग्राफी काफी डिफरेंट और टफ होती है, लेकिन यह फोटोग्राफी की तकनीक एक बार समझ आ जाए तो कोई भी इस फोटोग्राफी को आसानी से कर सकता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: