पति को बेड में चीखें सुनने में आता है मज़ा, डराता है काकरोच से

बैगलूरः सेक्स को लेकर आपने किसी को शायद ही कभी इतना पागल देखा होगा. आज हम आपको ऐसा ही कुछ एक कहानी बताने जा रहे है. बेंगलुरु के इंदिरानगर की रहने वाली एक महिला ने पुलिस में शिकायत की है कि उसका पति आए दिन कॉकरोच का डर दिखाकर उसके साथ सेक्स करता है.

महिला का कहना है कि उनकी शादीशुदा जिंदगी फिलहाल ठीक नहीं चल रही है क्योंकि उसके पति का कई लड़कियों के साथ अफेयर है और यही वजह है कि वह उससे दूर रहना चाहती है. लेकिन उसका पति अक्सर उसे डराने के लिए कभी कॉकरोच को उसके कपड़ों में डाल देता है तो कभी बेड पर. महिला का आरोप है कि उसके पति को बेड में उसकी चीखें सुनने में मजा आता है.
आरोपी पति का नाम अविनाश शर्मा है जो एक टेक कंपनी में काम करता है. पीड़ित महिला का नाम सुजाता है और वह खुद भी किसी टेक कंपनी में काम करती है लेकिन फिलहाल उसने अपने काम से ब्रेक ले रखा है. सुजाता और अविनाश, कॉलेज के दिनों से एक दूसरे को जानते हैं.
अविनाश ने पहले किसी और से शादी की लेकिन जब वह रिश्ता ज्यादा दिनों तक नहीं चला तो वह सुजाता के साथ शादी के बंधन में बंध गया. अविनाश और सुजाता की शादी को 10 साल हो चुके हैं और इनके 2 बच्चे भी हैं. साउथ-ईस्ट डिविजन पुलिस को दी गई अपनी शिकायत में सुजाता ने कहा, ‘वह लगातार मुझे प्रताड़ित करता है. हमारे 2 बच्चे हैं और यही कारण है कि मैं अब तक उसके साथ हूं.
जब मुझे पता चला कि उसके दूसरी लड़कियों के साथ संबंध हैं तो मैं उससे दूर रहने लगी और उससे कहा कि वह मुझे ना छूए. इसके बाद उसने कॉकरोच का इस्तेमाल किया और उनका डर दिखाकर मेरे साथ सेक्स करने लगा.’पुलिस ने इस केस को विमिन काउंसलिंग सेंटर को रेफर कर दिया जिसके बाद सेंटर ने अविनाश को इस मामले में समन किया.
इस केस की जांच कर रहीं सीनियर काउंसलर बी एस सरस्वती ने कहा, ‘अविनाश ने स्वीकार किया कि उसने अपनी पत्नी सुजाता को प्रताड़ित किया और उसे अपने साथ बिस्तर में लाने के लिए कॉकरोच का डर दिखाया. सुजाता को कॉकरोच फोबिया है और अविनाश ने उसी का फायदा उठाया.
जब सुजाता को उसके अफेयर के बारे में पता चला और उसने तलाक की मांग की तो अविनाश ने तलाक देने से भी इनकार कर दिया. वह इसीलिए यह सब कर रहा है. वह कई बार सुजाता को डराने के लिए डिब्बे में बंद कर कॉकरोच ले आता है. फिलहाल हम दोनों की काउंसलिंग कर रहे हैं.’
शहर के मशहूर साइकायट्रिस्ट डॉ एम एस साफिया कहते हैं, ‘हमें इस मामले को दो पहलूओं से देखना होगा. कई बार लोग इस तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं ताकि वह अपने पार्टनर का फोबिया और डर मिटा सकें. लेकिन अगर इस डर का इस्तेमाल पार्टनर को परेशान करने और तकलीफ पहुंचाने के लिए किया जा रहा है तो यह एक गंभीर मामला है.’
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

mpheadline.com@gmail.com
http://www.facebook.com/mpheadline
SHARE