नकली करेंसी मामले में युवा मोर्चा नेता गिरफ्तार

त्रिशूर: गुरुवार को श्री नारायणापुरम कोडुंगल्लुर में युवा मोर्चा के नेता के घर से पुलिस ने नकली नोटों और छपाई मशीनों को जब्त कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने जब्ती के सिलसिले में श्री नारायणपुरम में युवा मोर्चा के नेता इरसेरी राकेश (31), हर्षन के पुत्र को गिरफ्तार किया है। भाजपा सूत्रों ने बताया कि राकेश युवा मोर्चा की एक क्षेत्रीय समिति के सदस्य था। उनके भाई राजीव को भी इस मामले में शामिल होने का संदेह है, वह फरार है।पार्टी जिलाध्यक्ष ए नागेश ने बाताया कि पार्टी ने उन दोनों को निष्कासित कर दिया है।

पुलिस के अनुसार राकेश बीए की डिग्री धारक है और उन्होंने कंप्यूटर डिप्लोमा कोर्स भी पूरा कर लिया है। वे दुबई में लगभग पांच साल के लिए काम कर चुके है और उनके पिता खाड़ी देशों में काम करते थे।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने 1.31 लाख रुपये से अधिक की नकली मुद्राओं को जब्त कर लिया है। चालककुडी डीएसपी शाहुल हमीद ने बाताया कि नोट 2000 रुपये (65 नोट्स), 500 रुपये (आठ), 50 रुपये (पांच) और 20 रुपये (10 रुपये) के अंकित मूल्य थे जो कार्यवाही के दौरान मिले है। खुफिया जानकारी के अनुसार राकेश और राजीव कम समय में समृद्ध हो गए थे।

वही जब्त कई दस्तावेजों से संकेत मिलता है कि वे गैरकानूनी धन के संचालन में भी शामिल थे। हवाला कारोबार के खिलाफ पुलिस द्वारा शुरू की गई ऑपरेशन कुबेर के हिस्से के रूप में छापे शुरू किए गए थे। जिसमें यह बात खुलकर सामने आई।

पुलिस ने बताया कि युवा मोर्चा से जुड़े दोनों भाइयों ने कंप्यूटरों के जरिए वैध मुद्राओं को स्कैन किया और बाद में बॉन्ड पेपर में प्रिंट-आउट किया। छापे की निगरानी कर रहे एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “नकली मुद्राएं वास्तविक दिखती हैं और लेनदेन नोटों की गड्डी के रूप में किए जाने पर उन्हें पहचानना मुश्किल है।”

नकली नोट्स पेट्रोल पंपों और बार में लेनदेन के लिए और साथ ही लॉटरी खरीदने के लिए भी इस्तेमाल किए गए थे।

 

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

mpheadline.com@gmail.com
http://www.facebook.com/mpheadline
SHARE