एमपी के बीजेपी विधायक करेगें नए साल का विरोध

भोपाल: दो दिन बाद आने वाले अंग्रेजी नव वर्ष की तैयारियों में पूरा विश्व लगा हुआ है. लोगों ने बड़ी-बड़ी पार्टियां में शामिल होकर नाच गाने के साथ नए साल का स्वागत करने की योजना बना ली है. 31 दिसम्बर की रात को रंगीन बनने के लिए कई होटलों में तैयारियां जोरों पर है लेकिन इसी बीच मध्यप्रदेश के उज्जैन से विधायक डॉ मोहन यादव ने अंगेजी नव वर्ष का विरोध करने का ऐलान कर दिया है. डॉ मोहन यादव ने साफ तौर पर कहा है कि वह अंग्रेजियत के हिसाब से मनाए जाने वाले नए साल का पुरजोर विरोध करते है जिसको लेकर वह सरकार और प्रशासन को पत्र भी लिखेगें ताकि 31 दिसम्बर की रात को फूहड़ता के प्रदर्शन को रोका जा सके. साथ ही वह युवा वर्ग से अपील भी करेगें कि वह अंग्रेजी नव वर्ष के कार्यक्रमों में सहभागिता न करें। एमपी हेडलाइन से बात करते हुए डॉ मोहन यादव ने कहा कि यह वैचारिक लड़ाई है जिसको लेकर वह अपने कदम बढ़ा रहे है ताकि भारतीय संस्कृति को देश के युवाओं तक यह संदेश जा सके कि हमारा नव वर्ष यह नहीं जो 31 दिसम्बर की रात को मनाया जाता है बल्कि गुड़ी पड़वा हमारा नए साल का पहला दिन है जिसे प्रकृति भी मानती है। फूहड़ता और अश्लीलता से भरी 31 दिसम्बर की रात हमारे नए साल का आगाज नहीं करती बल्कि मौसम चक्र के परिवर्तन के अनुसार विक्रमी संवत के हिसाब से हमारा नया साल शुरू होता है।

उज्जैन से विधायक डॉ मोहन यादव ने इस दौरन जन प्रतिनिधि होने के नाते अपनी विधानसभा के युवाओं को लेकर पूरे देश मे जाग्रति लेने और अंग्रेजी नव वर्ष न मनाने की अपील सभी से की है ताकि इस रात को होने वाले ऐक्सिडेंटो ओर फूहड़ता के साथ अश्लीलता के दुष्परिणामों से बचा जा सके जिसके लिए वह आंदोलन करेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: